Friday, July 28, 2017 Newslinecompact.com अपना होमपेज बनाएं |
newslinecompact Logo
banner add
आज का इतिहास
इतिहास में आजApr 22, 2016

वह जिसने रूसी क्रांति का नेतृत्व किया, जिसके नाम पर एक विचारधारा कायम है, आज ही के दिन 1870 में हुआ था उसका जन्म। रूस के मार्क्सवादी विचारक व्लादिमीर लेनिन का जन्म 22 अप्रैल 1870 को सिमबिर्स्क में ..

इतिहास में आजApr 05, 2016

आज ही के दिन 1955 में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री सर विंस्टन चर्चिल ने स्वास्थ्य कारणों से इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे की घोषणा इंग्लैंड की महारानी के बकिंघम पैलेस से हुई, जिसमें कहा गया कि महारानी..

इतिहास में आजNov 08, 2015

जर्मनी में इन्हें वैज्ञानिक के सम्मान में रॉन्टजन किरणें ही कहा जाता है। 1901 में रॉन्टजन को भौतिकी का नोबेल पुरस्कार दिया गया। उन्होनें इस पुरस्कार के साथ मिली सारी धनराशि अपनी यूनिवर्सिटी को दान कर दी।

इतिहास में आज
इतिहास में आजNov 06, 2015

भारतीयों ने सितंबर 1906 में जोहानिसबर्ग में महात्मा गांधी के नेतृत्व में एक जनसभा का आयोजन किया और इस अध्यादेश के उल्लंघन और सजा के तौर पर दंड भुगतने की शपथ ली। इस प्रकार सत्याग्रह का जन्म हुआ, जो पलटवार के बजाए अहिंसक ढंग से उसका मुकाबला करने की नई शैली थी।

इतिहास में आज
इतिहास में आजNov 05, 2015

सद्दाम हुसैन को कोर्ट ने 1982 में दुजैल में 148 लोगों की हत्या के लिए दोषी ठहराया था। 5 नवंबर 2006 को सद्दाम हुसैन को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई थी। सद्दाम पर 148 लोगों की हत्या का अपराध साबित हुआ था।

इतिहास में आज
इतिहास में आजNov 04, 2015

ओबामा अमरीकी इतिहास में पहले काले उम्मीदवार थे, जिन्हें राष्ट्रपति के पद के लिए भारी मत से चुना गया था। डेमोक्रेटिक पार्टी के 47 वर्षीय ओबामा ने रिपब्लिकन पार्टी के जॉन मैक्केन को चुनावी दंगल में हराया था।

इतिहास में आज
इतिहास में आजNov 02, 2015

वह पिछले कई सालों से जेल में रही हैं। जब भी उन्हें रिहा किया जाता है फिर कुछ ही दिनों में उन्हें आत्महत्या की कोशिश के आरोप में फिर से गिरफ्तार कर लिया जाता है। इतने सालों से सामान्य तरीके से आहार ना लेने के कारण अब उनका शरीर भी इसे स्वीकार नहीं कर रहा।

1960 में पहली बार एक जिंदा इंसान को किडनी का सफल ट्रांसप्लांट कियाOct 30, 2015

आज ही के दिन सर माइकल वुडरफ ने ब्रिटेन के अस्पताल में पहली बार किसी जिंदा इंसान के शरीर से किडनी का प्रत्यारोपण किया था। सर वुडरफ के नाम ऐसी दवा बनाने का श्रेय भी जाता है जो शरीर में मौजूद अंग अस्वीकृति की प्रतिरक्षा प्रणाली को खत्म करती है।