Saturday, November 18, 2017 Newslinecompact.com अपना होमपेज बनाएं |
newslinecompact Logo
banner add
राज्यों से
Publish Date: Jul 18, 2016
दिल्ली की सड़कों पर अब नहीं चलेंगे 10 साल पुराने डीजल वाहन
title=


नई दिल्ली।

दिल्ली की सड़कों पर अब 10 साल पुराने डीजल के वाहन नहीं चल पाएंगे। राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने 10 साल पुराने डीजल के वाहनों पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है। आदेश तुरंत प्रभाव से लागू होगा। एनजीटी ने दिल्ली की ट्रांसपोर्ट अथॉरिटीज को तुरंत प्रभाव से 10 साल पुराने डीजल के वाहनों के रजिस्ट्रेशन रद्द करने को कहा है। एनजीटी ने आरटीओ से उन वाहनों की सूची सौंपने को कहा है जिनका ट्रैफिक पुलिस रजिस्ट्रेशन रद्द करेगी। एनजीटी ने 2000 सीसी से ज्यादा वाले डीजल के वाहनों पर प्रतिबंध का आदेश जारी नहीं करेगा।

पिछले सप्ताह सुनवाई के दौरान एनजीटी ने दिल्ली सरकार से दो सप्ताह में यह स्पष्ट करने को कहा था कि वह 10 साल पुराने डीजल के वाहनों और 15 साल पुराने पेट्रोल के वाहनों के रजिस्ट्रेशन को कैंसिल करने के पक्ष में है या नहीं। एनजीटी ने दिल्ली सरकार से जानकारी मांगी थी कि पिछले एक साल में कितने 10 साल पुराने डीजल के वाहन और 15 साल पुराने पेट्रोल के वाहन जब्त किए गए। इसके जवाब में दिल्ली के परिवहन विभाग ने एनजीटी को सूचित किया था कि पिछले एक साल में 3 हजार वाहन जब्त किए गए।

हालांकि बाद में सभी वाहनों को रिलीज्ड कर दिया गया। राज्य सरकार ने एनजीटी को बताया था कि मोटर व्हीकल एक्ट के तहत केवल क्षेत्रीय ट्रांसपोर्ट दफ्तर को ही पुराने वाहनों का रजिस्ट्रेशन रद्द करने का अधिकार है। यह उसके क्षेत्राधिकार में नहीं आता। इस पर बैंच ने कहा था कि वह डीजल व पेट्रोल के पुराने वाहनों को चरण बद्ध तरीके से बाहर करने के संबंद में उचित आदेश पारित करेगा। प्रदूषण कम करने के मकसद से पिछले साल अप्रेल में एनजीटी ने कहा था कि 10 साल से पुराने वाहनों को दिल्ली में चलने की अनुमति नहीं होनी चाहिए। इससे पहले नवंबर 2014 में एनजीटी ने 15 साल पुराने सभी वाहनों के चलने पर प्रतिबंध लगा दिया था।

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।