Thursday, August 24, 2017 Newslinecompact.com अपना होमपेज बनाएं |
newslinecompact Logo
banner add
आपके पत्र
Publish Date: May 03, 2016
ये आंसू मेरे...
मीडिया में ऐसा आते रहता है कि देश के न्यायालयों में कितने-कितने करोड़ मामले वर्षों से पड़े हैं। सवाल है ये किस नेचर के हैं। इसका विवरण भी आना चाहिए। एक और बात अब देश में शिक्षा बढ़ी है, लोकतंत्र ने जागरूक किया है और अधिकार सम्पन्न भी किया है अत:कोर्ट में मुकदमों की संख्या तो बढऩी ही है। लेकिन किस तरह के मुकदमे हैं। अधिकतर उच्च न्यायालय या उच्चतम न्यायालय में किसी महत्वपूर्ण मामले पर जिरह होने और उस पर फैसला आने की बात ही मीडिया में आती है।
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।