Tuesday, September 26, 2017 Newslinecompact.com अपना होमपेज बनाएं |
newslinecompact Logo
banner add
राज्यों से
Publish Date: Sep 19, 2016
सपा कूनबे में अब नया मोड़, चाचा-भतीजे के बाद भाई-भाई में बढ़ा तकरार, शिवपाल ने राम गोपाल के दो निकट संबंधियों को पार्टी से निकाला
title=

लखनऊ। सपा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष का पद संभालते ही शिवपाल सिंह यादव ने रविवार को राम गोपाल यादव के दो निकट संबंधियों, विधानसभा सदस्य अरविंद प्रताप यादव और इटावा में पूर्व ग्राम प्रधान अखिलेश कुमार यादव, को निष्कासित कर दिया. अरविंद राम गोपाल के भतीजे हैं. अरविंद और अखिलेश के खिलाफ भूमि पर कब्जा करने तथा अन्य कई शिकायतें थीं. सपा के राज्य सचिव एसआरएस यादव ने बताया कि अरविंद को पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव के खिलाफ अशोभनीय एवं अपमानजनक टिप्पणी और पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने के लिए निष्कासित किया गया है. उक्त दो नेताओं के निष्कासन से मुलायम परिवार में फिर तनाव पैदा होने की आशंका है, क्योंकि दोनों ही राम गोपाल के करीबी माने जाते हैं. हालांकि, शिवपाल के करीबियों ने बताया कि जो भी फैसला किया गया है, उसकी जानकारी मुलायम को है. सपा कार्यालय पहुंचने से पहले शिवपाल मुलायम से हवाई अड्डे पर मिले. मुलायम दिल्ली रवाना हो रहे थे. 

पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शिवपाल ने कहा कि चुनाव नजदीक हैं इसलिए हर किसी को पार्टी मजबूत करने में लग जाना चाहिए, ताकि एक बार फिर सपा की बहुमतवाली सरकार बने. उन्होंने कार्यकर्ताओं को आगाह किया कि पार्टी में गुटबाजी नहीं होनी चाहिए. जो गुटबाजी करेगा, उससे सख्ती से निपटा जायेगा. भाजपा अगले महीने उत्तर प्रदेश में चार परिवर्तन यात्राएं शुरू करेगी और यह 100 दिन से ज्यादा चलेंगी, जो संभवत: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के साथ खत्म होंगी. पार्टी सूत्रों ने बताया कि चार यात्राएं सहारनपुर, ललितपुर, सोनभद्र और गोरखपुर या बलिया से शुरू हो सकती हैं. श्राद्ध के खत्म होने के बाद ये यात्राएं एक स्थान पर आकर मिल सकती हैं, जो लखनऊ हो सकता है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कई केंद्रीय मंत्री जनसभा करेंगे.
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।